Aapka USP Kya Hain ? - हिंदी PDF | Aapka USP Kya Hain ? In Hindi PDF Free Download







Aapka USP Kya  Hain ? - हिंदी PDF | Aapka USP Kya  Hain ? In Hindi PDF Free Download



पुस्तक : आपका यूएसपी क्या है ?


लेखक : डॉ. सुधीर दीक्षित 


पुस्तक भाषा : हिंदी 


पृष्ठ : 90 


PDF साइज : 2 MB

 





Aapka USP Kya  Hain ? In Hindi PDF Free Download 



Ab jab aapane taigalain taiyaar kar lee hai (agar nahin kee hai, to pahale use taiyaar kar len, kyonki isake baad hee aap aage badh sakate hain!), to ab yooesapee kee baaree hai. jaisa pahale hee bataaya ja chuka hai, yooesapee ka matalab hai anootha bikree kathan, yaanee aap kyon anoothe hain aur graahak aapakee hee kampanee ka prodakt kyon khareede aur aap hee se kyon khareede ? yooesapee se graahak ko yah bharosa ho jaata hai ki use aapase kya milega aur kitana milega. zyaadaatar maamalon mein bikree na hone ya naukaree na milane ka kaaran yogyata ka abhaav nahin hota asal kaaran to yah hota hai ki graahak ya niyokta ko aap par bharosa nahin hota hai. 


Aapaka yooesapee use bharosa dilaata hai. jab aap graahak kee vishesh aavashyakataon ke hisaab se apana yooesapee taiyaar karate hain, to aapakee saphalata lagabhag tay ho jaatee hai. graahak kee vishesh aavashyakataon ke sandarbh mein is baat ka dhyaan rakhen ki isamen ve aavashyakataen to shaamil hain hee, jo vah bataata hai; saath hee isamen ve aavashyakataen bhee shaamil hain, jo usane nahin bataee hain. 








Aapka USP Kya Hain ? In Hindi पुस्तक का विवरण :


अब जब आपने टैगलाइन तैयार कर ली है (अगर नहीं की है, तो पहले उसे तैयार कर लें, क्योंकि इसके बाद ही आप आगे बढ़ सकते हैं!), तो अब यूएसपी की बारी है। जैसा पहले ही बताया जा चुका है, यूएसपी का मतलब है अनूठा बिक्री कथन, यानी आप क्यों अनूठे हैं और ग्राहक आपकी ही कंपनी का प्रॉडक्ट क्यों ख़रीदे और आप ही से क्यों खरीदे ? यूएसपी से ग्राहक को यह भरोसा हो जाता है कि उसे आपसे क्या मिलेगा और कितना मिलेगा। ज़्यादातर मामलों में बिक्री न होने या नौकरी न मिलने का कारण योग्यता का अभाव नहीं होता; असल कारण तो यह होता है कि ग्राहक या नियोक्ता को आप पर भरोसा नहीं होता है। आपका यूएसपी उसे भरोसा दिलाता है। 


जब आप ग्राहक की विशेष आवश्यकताओं के हिसाब से अपना यूएसपी तैयार करते हैं, तो आपकी सफलता लगभग तय हो जाती है। ग्राहक की विशेष आवश्यकताओं के संदर्भ में इस बात का ध्यान रखें कि इसमें वे आवश्यकताएँ तो शामिल हैं ही, जो वह बताता है; साथ ही इसमें वे आवश्यकताएँ भी शामिल हैं, जो उसने नहीं बताई हैं। सेल्सपर्सन का काम उन चीज़ों को समझना है, जो कही नहीं गई हैं, लेकिन पृष्ठभूमि में मौजूद हैं। प्रायः अनकही आवश्यकताएँ बताई गई आवश्यकताओं से ज़्यादा अहम होती हैं।



इसलिए अपना यूएसपी दोनों तरह की आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर बनाएँ। तभी उसे विश्वास होगा कि आप उसकी आवश्यकताओं को सचमुच समझ गए हैं। जैसा स्टीफ़न कवी ने लिखा है, 'प्रभावकारी सेल्समैन सबसे पहले ग्राहक की आवश्यकताओं, चिंताओं और स्थिति को समझने की कोशिश करता है। नौसिखिया सेल्समैन प्रॉडक्ट बेचता है, प्रभावकारी सेल्समैन आवश्यकताओं और समस्याओं के समाधान बेचता है। यह एक बिलकुल भिन्न दृष्टिकोण है। '




आप चाहे किसी प्रॉस्पेक्ट को सामान बेच रहे हों या कंपनी में सीवी भेज रहे हों, सबसे पहले आपको यह पता लगाना चाहिए कि उसकी जरूरतें क्या है, उसकी समस्याएँ क्या हैं, वह आपकी सेवाएँ क्यों लें और आपकी योग्यताएँ किस तरह उसके काम आ सकती हैं। देखिए, एक तरह से देखें, तो कोई भी प्रॉडक्ट नहीं खरीदता है लोग अपनी समस्याओं का हल ख़रीदते हैं। वे ब्यूटी क्रीम नहीं ख़रीदते हैं, वे सुंदरता ख़रीदते हैं। जैसा डेविड जे. श्राज ने कहा है, 'आपका ग्राहक आत्म-रुचि के नियम से काम करता है। 


जब कोई सेल्समैन प्रस्तुति देता है, तो ग्राहक दरअसल यह जानना चाहता है, 'इसका मेरी समस्या से क्या संबंध है? इससे मुझे क्या फ़ायदा होगा?' हमेशा याद रखें कि आपका ग्राहक आपका प्रॉडक्ट इसलिए नहीं खरीदेगा, क्योंकि इससे आपको फ़ायदा होगा, बल्कि इसलिए ख़रीदेगा, क्योंकि इससे उसे फ़ायदा होगा। और जो जिरार्ड के इस कथन को हमेशा याद रखें, 'बेचना दरअसल जासूसी का खेल है। अगर आप किसी को कुछ बेचना चाहते हैं, तो आपको उस व्यक्ति के जीवन के उस पहलू के बारे में ज़्यादा से ज़्यादा पता लगा लेना चाहिए, जो आपके कारोबार से संबंध रखता हो। 



PDF  डाउनलोड करने के लिए क्लीक करे 


Download Now








Description of the book In English :


Now that you've got the tagline (if you haven't, get it ready first, because only then can you move on!), it's time for the USP. As already mentioned, USP stands for Unique Selling Statement, i.e. why are you unique and why should customers buy your company's products and buy from you? USP assures the customer what he will get from you and how much. In most cases, lack of qualifications is not the reason for not selling or not getting a job; The real reason is that the client or employer does not trust you. Your USP assures that.


When you tailor your USP to the specific needs of the customer, your success is almost certain. In the context of the specific needs of the customer, keep in mind that this includes the requirements that it states; It also includes requirements that he has not specified. The salesperson's job is to understand the things which are not stated but are present in the background. Often the unsaid needs are more important than the stated needs.







*

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने